पाकिस्तान का साथ देने वाली चीन की कंपनियों पर रोक लगे: स्वदेशी जागरण मंच



राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से संबद्ध स्वदेशी जागरण मंच (SJM) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) से अपील की है कि सरकार भारत में व्यापार कर रही चीनी कंपनियों के लिए बाधाएं उत्पन्न करे क्योंकि चीन मसूद अजहर (Masood Azhar) को एक ‘वैश्विक आतंकवादी’ के रूप में नामित करने के भारत के प्रयासों में लगातार अवरोध उत्पन्न करता रहा है.

मसूद अजहर जैश-ए- मोहम्मद का संस्थापक है. इसी आतंकवादी संगठन ने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादी हमला किया था जिसमें 40 जवान शहीद हुए थे.

नरेंद्र मोदी को लिखे एक पत्र में एसजेएम (SJM) के सह संयोजक अश्विनी महाजन ने सोमवार को कहा कि पुलवामा में कायराना आतंकवादी हमले ने राष्ट्र की अंतरात्मा को झकझोर दिया है और इस समय किसी भी ऐसे राष्ट्र को आर्थिक लाभ लेने से रोकने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए जो सीधे या अप्रत्यक्ष रूप से इस प्रकार के आतंकवादियों का समर्थन करता है.

महाजन ने कहा है, ‘यह सभी जानते हैं कि इन आतंकवादी हमलों के मुख्य साजिशकर्ता मसूद अजहर को एक ‘वैश्विक आतंकवादी’ नामित करने के हमारे देश के प्रयासों को चीनी सरकार लागातार बाधित करती रही है.’

उन्होंने कहा, ‘ऐसे समय में हमारा मानना है कि सरकार अपने आर्थिक लाभ के लिए भारत का इस्तेमाल कर रहीं चीनी कंपनियों के समक्ष भी इसी तरह की बाधाएं उत्पन्न करें.’

उन्होंने पाकिस्तान से ‘मोस्ट फेवर्ड नेशन’ का दर्जा छीने जाने और वहां से आने वाले सभी उत्पादों पर आयात शुल्क में बढ़ोत्तरी करने के सरकार के फैसले का स्वागत किया.

पत्र का समापन करते हुए एसजेएम ने कहा है कि सरकार को एक दुश्मन देश की कंपनियों का समर्थन बंद करना चाहिए और राष्ट्रीय सुरक्षा के बारे में अधिक व्यापक दृष्टिकोण रखना चाहिए.

Source link



Leave a Reply